मंच संचालन की जिम्मेदारी…..असल में है बहुत ही भारी

मंच संचालन की जिम्मेदारी…..असल में है बहुत ही भारी
दूसरी बार भी भाई Saumitra Narayan Sharma ने 
बिना किसी पूर्वसूचना के हमें आखिरी Overs में मैदान में उतार दिया
हमने भी Agaastyaa के 3rd Open Mic में टूटी-फूटी Hosting कर ही ली…

ज्यादा कुछ नहीं बस एक बात कहूंगा
दिल की आवाज़ में चंद अल्फ़ाज़ कहूंगा

इतना तो यक़ीन है अपने अंदाज़ पर
के आज से मैं आप सबके दिल में रहूंगा…

देखकर जिसे खुद मायूसी भी मुस्कुराएं

YourQuote Open Mic Jaipur

कई दिन हो गए हैं चलो ना थोड़ा जिया जाएं
नहीं किया जो अब तक आज वही किया जाएं

क़िरदार हो तो कुछ ऐसा हो, वरना ना हो
के देखकर जिसे खुद मायूसी भी मुस्कुराएं