When a writer losing his cell phone, it’s happens….

CYMERA_20150703_173356.jpg

दोस्तों, यह कहानी है भूत काल बन चुके मेरे उस mobile की
life के memory card से delete हो चुकी एक फाइल की

सफ़र में उसका साथ बस इतना ही लिखा था
हाथों में उसका हाथ बस इतना ही लिखा था

हुआ यूँ, के पानी में गिरकर mobile मेरा मरहूम हो गया
गुज़रे चार सालों का flashback suddenly ज़ूम हो गया

इस story की शुरुआत, मुश्किल वाले दौर में उसकी grand entry से हुई थी
मोहब्बत वाले महीने में मेरी मुलाक़ात, एक रोज़ samsung S3 से हुई थी

उसके करिश्माई Cymera की मदद से मैंने कई हसीन लम्हें संजोये थे
उसकी stylish सेल्फियों से नज़रे चुराकर पलकों के परदे भिगोये थे

चलते-चलते music player ठिठक जाता था
बीच-बीच में अक्सर गाना अटक जाता था

पीठ पर मुहाज़िर बन चुके माज़ी की तस्वीर बनी हुई थी
color note में ज़िन्दगी की तमाम तहरीर लिखी हुई थी

अभी के लिए बस इतना ही, और ज्यादा कुछ नहीं कहना है
फ़िलहाल तो बस कुछ दिनों तक बिना सेलफोन ही रहना है

देखते हैं, इस बार कौनसा नया स्वचालित दूरभाष यंत्र आता है 
जो मनमौजी microwaves के ज़रिये, साड्डा मन बहलाता है।

 
 
 

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s