“एलियन हूँ मैं”

इंसान नहीं एक एलियन हूँ मैं
गुमनाम ग्रह प्लूटो से आया हूँ
लोग मुझसे डरते हैं, और मैं लोगों से ।

ज़िन्दगी जीना चाहता हूँ
मगर ज़िन्दगी जीने का सलीका नहीं आता है
दोस्त बनाना चाहता हूँ
पर दोस्ती निभाने का तरीका नहीं आता है ।

कोई मेरी बचकानी हरकतों पर हँसता है
तो कोई मेरी मनमानी हसरतों पर
कोई निहायत बेवकूफ समझता है
तो कोई हद से ज्यादा खुदगर्ज ।
पता नहीं असल में कौन हूँ मैं
कोई हूँ भी सही, या नहीं हूँ मैं ।

कल जब एक जुपिटर से आए
एलियन से मुलाकात हुई
तब कहीं जाकर सिस्टम को सुकून नसीब हुआ
कि चलो कोई तो मिला अपने जैसा चेहरा यहाँ ।

इंसान नहीं एक एलियन हूँ मैं
गुमनाम ग्रह प्लूटो से आया हूँ
लोग मुझसे डरते हैं, और मैं लोगों से ।।

-RockShayar

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s