“उर्दू (Urdu)”

Urdu Poem

बाअसर कुछ इस क़दर शीरीं ज़बान है उर्दू,
सुतून-ए-अदब वो तहज़ीब की पहचान है उर्दू ।

मुंतज़िर सब इसके अदीब-ओ-महफ़िल यहाँ,
सुख़नगोई के लिए हाँ यक़ीनन वरदान है उर्दू ।

साये में जितना नूर है हर्फ़ उतने मशहूर हैं,
ज़िंदगी की ग़ज़ल का ज़िंदा कोई उन्वान है उर्दू ।

शहद सी तासीर भी है शऊर की ताबीर भी है,
दिल की ज़मीं पर जन्नत सा एक जहान है उर्दू ।

अहसास का ये अलिफ़ शोबे जिसके मुख़्तलिफ़,
शायरी की वो जान फ़क़त बज़्म की शान है उर्दू ।

ख़ामोशी बोलती है राज़ खुद बखुद खोलती है,
वज़्नी अल्फ़ाज़ से तामीर हुआ मकान है उर्दू ।

आग का दरिया भी है जीने का ज़रिया जहाँ,
मरीज़े मोहब्बत के लिए हक़ीमे लुक़मान है उर्दू ।

हो वो चाहे मीर-ओ-ग़ालिब रहे सदा इसके ही तालिब,
आबशार-ए-अदब की सदियों से निगहबान है उर्दू ।

ग़ज़ल नज़्म क़ता रूबाई लिखू मैं क्या क्या ‘इरफ़ान’,
दो लफ़्ज़ों में कहूँ तो मुकम्मल हिंदोस्तान है उर्दू ।।

कातिब :- रॉकशायर ‘इरफ़ान’ अली ख़ान

:-अल्फ़ाज़ के मानी:-

बाअसर – प्रभावशाली
शीरीं ज़बान – मीठी भाषा
सुतून-ए-अदब – साहित्य का स्तंभ
तहज़ीब – संस्कृति
मुंतज़िर – प्रतीक्षक
अदीब-ओ-महफ़िल – साहित्यकारो की सभा
सुख़नगोई – कविता, शायरी
साये में – छाया में
नूर – रोशनी
हर्फ़ – अक्षर
उन्वान – शीर्षक
तासीर – प्रकृति
शऊर – विवेक, ज्ञान
ताबीर – स्वप्नफल
जन्नत – स्वर्ग
जहान – संसार
अलिफ़ – उर्दू वर्णमाला का पहला अक्षर
शोबा – विभाग
मुख़्तलिफ़ – विभिन्न
फ़क़त – सिर्फ
बज़्म – सभा
रूहानी – आध्यात्मिक
अल्फ़ाज़ – शब्द
तामीर – निर्माण
मरीज़े मोहब्बत – प्रेम रोगी
हक़ीमे लुक़मान – विश्व प्रसिद्ध यूनानी वैद्य
मीर-ओ-ग़ालिब – मीर और ग़ालिब, उर्दू के दो श्रेष्ठ कवि
तालिब – इच्छुक
आबशार-ए-अदब – साहित्य का झरना
निगहबान – संरक्षक
ग़ज़ल नज़्म क़ता रूबाई – उर्दू काव्य की विभिन्न विधाए
लफ़्ज़ों – शब्दों
मुकम्मल – सम्पूर्ण
कातिब – लेखक

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s